रसीली दोस्त को घर में चोदा

 83 

रसीली वंदना को दोस्त के घर चोदा

बात उन दिनों की है जब मैं इण्टर पास कर चुका था और कालेज में एडमिशन लेने का प्लान बना रहा था। इण्टर तक मेरे क्लास में एक लड़की पढ़ती थी ‘वंदना’। वंदना का फिगर इतना मस्त था कि क्लास का हर लड़का वंदना के पीछे पड़ा था। उसकी पहाड़ जैसी चूचियाँ क्लास क्या, पूरे स्कूल के लड़को और टीचरों पर कहर ढाती थी। वह सफेद रंग की चुस्त शर्ट पहनती थी जिसमें चूचियाँ छलकती रहती थी। एक बार जो लड़का उसे देखता वह देखता ही रह जाता था। मैने भी उस पर कई बार लाइन मारी थी, पर उसने भाव नहीं दिया।

वैसे मैं अपने बारे में बता दूं, मेरा नाम है रोहन राठौर और मैं रोहतक हरियाणा का रहने वाला जवान लौंडा हूँ। मैने वंदना के चक्कर में उसी कालेज में एडमिशन लिया जहाँ वदंना ने इण्टर के बाद एडमिशन लिया। मैने उसकी एक सहेली से पताकर बी.ए. में एडमिशन लिया था क्योकि वंदना भी बी.ए, करने जा रही थी। इस तरह हम लोग एक ही क्लास में आ गये और हमारी थोड़ी बहुत बात हो जाया करती थी।

https://nightqueenstories.com

कालेज में एक से बढ़कर एक लड़के थे जो वंदना को ताड़ते थे और मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार को लड़का उसको चोदने के सपने देखा करता था। कई बार रात में सपने में मैने उसको चोदा और फिर जब सुबह उठा तो यही अफसोस होता कि काश सच में वंदना मेरा लण्ड लेकर चूसे। ऐसा सोच सोच कर मैने 3 महीने गुजार दिए और फिर एग्जाम्स आऩे वाले थे।

यही वह मौका था जब हमारी बात और आगे बढ़ सकती थी। मैने उससे बात आगे बढ़ाने को उससे हिस्ट्री के नोट्स मागें और बोला कि क्या वो मुझे कुछ कान्सेप्ट समझा सकती है। तो उसने मना नही किया और न ही कुछ बोला। मैने दोबारा पूछा तो उसने कहा कालेज में मैं तुम्हें नही पढ़ा सकती, अगर कुछ पूछना है तो बाहर समझ लेना। मैने उसका इशारा समझ लिया था।

मैं भी जवान हट्टा- कट्टा लड़का हूँ, और 7 इंचा लम्बा, मोटा, काला लण्ड रखता हूँ। मेरा गठीला शरीर देखकर ही उसने मुझसे बाहर मिलने का मन बनाया होगा, ऐसा सोचकर मैं काफी उत्सुक था। मैने तो उसी दिन मेडिकल स्टोर जाकर ऐक पैकेट कण्डोम भी खरीद लिये।

अब, अगले दिन मैने वंदना को क्लास के बाहर रोका और कहा वंदना मेरी हिस्ट्री में मदद करो नही तो मैं फेल हो जाउंगा। मैने एक जगह भी देख ली है जहाँ हम एक दो घण्टे बैठकर पढ़ सकते हैं। उसने पूछा कहा है वो जगह, तो मैने बताया मेरे दोस्त का घर है, वह अभी खाली है,तो हम वहाँ जा सकते हैं। कुछ देर सोचकर उसने कहा, ठीक है कल चलते हैं। यह सुनकर मेरी तो खुशी का ठिकाना ही नही रहा। मेरा लण्ड हिचकोले खाने लगा और मेरे हाथ उसकी बड़ी बड़ी चूचियो को दबाने को मचलने लगे।

word image 5666 1

अगले दिन जब वह कालेज आई तो उसे देखकर मेरी आँखे खुली रह गयी। वह लाल टाॅप और जीन्स में आई थी और उसकी टी-शर्ट व जीन्स के बीच में उसकी कमर लचकोले खा रही थी। सभी लड़को का ध्यान उसी पर थी। उसकी चूचियाँ तो हमेशा की तरह ऊपर नीचे हो रही थी। वह ऐसे चल रही थी कि उसके सामने कोई हिरोईन भी फीकी लगे। उसकी टाॅप से उसकी चूचियों के बीच की गली साफ दिख रही थी और उसमे उसके गले का माला फंसा हुआ था। मेरा लण्ड तो उसी वक्त उसको सलामी देना चाहता था पर अभी क्लास का समय था।

लंच में वह मेरे पास आयी, उसके बदन से एक अजीब सी खुश्बू आ रही थी जो मुझे अंदर तक झकझोर गयी थी। उस दिन तक मैने किसी को कभी चोदा नही थी, वह दिन ऐसा था जब लग रहा था कि मुझे चूत के साक्षात दर्शन हो जाएगें। मेरे पास आकर बोली, कि आज शाम को चलना है न। मैने झट से कहा, हाँ, तुम चलोगी न। मुझे नोट्स भी चाहिए, फोटोकापी कराकर मैं वापस कर दूंगा।

वंदना बिल्कुल भी झिझक नहीं रही थी, उसने कहा ले लेना नोट्स भी। तुम्हारी मदद हो जाएगी, आखिर तुम मेरे स्कुल टाइम के दोस्त हो। उसकी यह बात सुनकर मैं काफी उत्साहित हुआ, कि वह मुझे स्कूल टाइम से जानती है और मुझे दोस्त मानती है।

मैने कालेज खत्म होने के बाद उसको अपनी बाइक पर बैठाया और दोस्त के घर की तरफ निकल पड़ा। बाइक पर जब वह बैठी तो उसके चूंचे मेरी पीठ से छू रहे थे जिससे मैं गर्म हो रहा था और उन चूचों को मसलने की मंशा दिमाग में लेकर चल रहा था। दोस्त के घर पहुँचकर, हमने पानी वानी पी कर, कुछ बहुत बाते की, फिर उसने कहा, बताओं क्या पूछना है। मैने किताबे खोली और महत्वपूर्ण प्रश्नो पर मार्किग करने को बोला।

word image 5666 2

वंदना बहुत हाॅट लग रही थी, उसने बालों को कानों के पीछे किया और पेन उठाकर मार्क लगाने लगी। मैं उसके चूचियां की ओर ध्यान से देख रहा था। तभी अचानक उसकी नजर मुझपे पड़ी तो वह बोली, तुम क्या देख रहे है। तो मैने बिना शर्माये बोला, तुम्हारी इन प्यारी प्यारी चूचियों को देख रहा हूँ और इन्हे चूसना चाहता हूँ। वह शर्मा गयी और हल्के से मुस्कुराई। मैं अपनी सीट से उठा और उसके टाॅप के अंदर हाथ डालकर दायीं ओर की चूची बाहर निकाल ली। उसने कुछ नही कहा, वह नीचे देख रही थी। मैने भी आव देखा न ताव, उसकी चूचीं को जोर जोर से चूसने लगा और दूसरी चूची को हाथ से मसल रहा था। वह आह आह कर आहे भरने लगी थी। फिर मैने दूसरी चूचीं को भी बाहर निकाला और उसे भी पागलों की तरह चूसने लगा।

https://nightqueenstories.com/

उसकी बड़ी- बड़ी चूचियाँ चूसकर इतना मजा आ रहा था कि मैं अपने आपे से बाहर जा रहा था। मैने पहली बार चूचियां इस तरह से चूसी थी। मैने झटके से उसको खड़ा किया और दीवार से सटा दिया। फिर मैं उसके गुलाबी होठों का रसपान करने लगा। किस इतना जबरजस्त चल रहा था कि मैं अपने आप को इमरान हाश्मी का बाप समझने लगा था। फिर मैने उसका टाॅप उतारा, नीचे उसने नेट वाली ब्रा पहनी थी, जिसे देखकर मैं और उत्तेजित हो गया था। मै अपना एक हाथ उसकी चूत पर ले गया और उसकी चूत भी सहलाने लगा। इधर किस भी कर रहा था ताकि वो मदहोश रहे।

उसने मेरा लण्ड पकड़ लिया और बाहर निकालने लगी। मैने उसकी मदद की और पैंट खोल दी, अब उसके सामने मेरा काला फनफनात हुआ टाइट लण्ड था। वह काफी खुश दिख रही थी। मैने उसको नीचे घुटनों के बल बैठाया और एक झटके में पूरा लण्ड उसके मुहँ में उतार दिया। ‘क्या कर रहे हो’ उसने लण्ड बाहर निकालते हुए कहा। ‘ऐसा ही होता है’ मैने कहा। उसने लण्ड लेने से मना किया तो मैने उसको टेबल पर लिटाया और उसकी दोनों टाॅगे फैलाते हुए, चूत चाटने लगा। पहली बार मैने किसी चूत को देखा था। उसकी चूत डबलरोटी की तरह गुलाबी रंग की थी। मैं उसे चबा जाना चाहता था। मैने बहुत सारी ब्लू फिल्मे देखी थी तो मुझे चूत चाटंने का एक अंदाजा था। वह अपने चूचों को खुद ही दबा दबा कर आहें भर रही थी।

मैं उसकी चूत चाट चाटकर लाल कर चुका था और वह भी सिसकारियाँ भर रही थी। चूत से एक अजीब सी खुश्बू आ रही थी जो मादक थी। मैं जोश में लगा था और चूत को अच्छी तरह से गीला कर चुका था। फिर मैं खड़ा हुआ और मेज के दूसरी ओर गया जिधर उसका सिर लटक रहा था। मैने उधर से उसके मुहँ में लण्ड डाला, इस बार उसने मना नहीं किया। उसका मुँह उल्टा था तो उसके दांत मेंरे लण्ड पर रगड़ रहे थे जिससे मजा दोगुना हो गया था। मै लमक के उसकी चूत पर हाथ सहलाने लगा। वह अच्छी तरह से गर्म हो चुकी थी।

कुछ देर मेरा लौड़ा चूसने के बाद, वह उठी और मुझे जमीन पर लिटाया और खुद मेरा लण्ड अपनी चूत में लेकर मेरे ऊपर बैठ गयी। उसकी चूत इतनी गर्म थी मानो भट्ठी जल रही हो और उसमे चाय तक बन जाये। उसने ढेर सारा थूक लगाया था और एक बार में ही पूरा लण्ड गपक गयी थी। दो चार बार अंदर बाहर करने में ही मैं बौरा गया था। मैने होश संभाला और हाथो से उसकी चूचियोे को सभालां। कस कस कर दो मिनट तक चूचियाँ दबाने का नतीजा ये रहा कि वह उछल उछल कर चुदने लगी थी।

फिर मोर्च को संभालते हुए मैने उसे उठाया और मेज पर लिटा दिया, चूत फैल चुकी थी और लण्ड का टोपा खुल चुका था। कंडोम कहाँ है मुझे कुछ ध्यान नही, मैंने उसकी टाॅगे फैलायी और चूत के ऊपर अपना लण्ड रगड़ने लगा क्योकिं मैने सुना था कि चूत पर लण्ड रगड़ने से लौडिया पगला जाती है। ऐसा हो भी रहा था मैं चूत पर लण्ड रगड़ रहा था उसकी लच्छेदार छाटें फस रही थी लेकिन वह वाकई में मजे से पगला रही थी, उसकी ऑखें ऊपर की और टंग गयी थी और वदंना बस यही कह रही थी कि प्लीज मुझे चोदो, मेरी जबरजस्त चुदाई कर दो। वह गालियाँ भी देने लगी थी। जब उसने कहा मादरचोद, पेल मुझे। मेरे अंदर का हैवान जाग गया और मैने एक बार फिर अपना लण्ड उसकी खुली चूत में उतार दिया। इस बार मैं रूका नही, धकापेल पेले जा रहा था और वह गालियाँ निकाल निकाल कर चुदे जा रही थी।

मैं लण्ड पूरा बाहर लाकर फिर पूरा अंदर ले जा रहा था। इसमे मुझे और उसे दोनो को जबरजस्त मजा आ रहा था। मुझे यकीन नहीं हो रहा थी कि जिसको चोदने के मैने दिन रात सपने देखे हैं वह रांड मुझसे इस तरह से चुद रही है। उसके कपड़े एक तरफ पड़े मानो उसको चिढ़ा रहे थे और मैं फ्रंटफुट पर बैंटिग किये जा रहा था। अब, उसकी चूत गीली हो रही थी, जिससे लण्ड बड़े आराम से अंदर बाहर हो रहा था।

मैने टेबल पर ही उसे कुतिया बनाया और पीछे से 8-10 बड़े और लम्बे शाट मारकर उसकी चूत के अदंर ही झड़ गया। उसने मेरे वीर्य को महसूस किया, और कहा- क्या हो गया तुम्हारा। मैने किस करते हुए कहा ‘हाँ, मैने आज जन्नत की सैर कर ली’। मैने जब लण्ड निकाला तो साथ में सफेद पानी भी निकल रहा था और टोपा मेरा पूरा लाल हो रखा था। मैने उसके मुँह में लण्ड देते हुए पूछा मजा आया क्या। उसने भी मेरे लण्ड को पुचकारते हुए हाँ का इशारा किया।

word image 5666 3

इसके बाद हमने कपड़े पहने, और मैने उसको उसके घर में छोड़ा। चुदाई करते हुए मैं यह भूल गया कि मैं हिस्ट्री के नोट्स लेने आया था। खैर, मैं जैसे तैसे हिस्ट्री में पास हो गया था।

हमे उम्मीद है कि आपको हमारी कहानियाँ पसंद आयी होगी और हम आपको बेहतरीन सेक्स कहानियां प्रदान करना जारी रखेंगे ।

तो दोस्तों ऐसे ही मजेदार चुदाई सेक्स कहानियों के लिए https://nightqueenstories.com के अन्य पेज पर जाएं।

हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें। मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “गंदी Sex Stories”

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

 

80% LikesVS
20% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *