लेस्बियन चुदाई का आनंद

 447 

सच्ची सहेली के साथ पार्क में लेस्बियन चुदाई का आनंद

हेलो दोस्तों कैसे हो आपसब उम्मीद करता हूं सभी मस्ती में होंगे। दोस्तों मैं नीतू हूं 24 साल की भरे हुए बदन लेकिन बिलकुल फिट हूं। 36 की चूचियां 28 की कमर और 38 इंच की गांड है। मैं एक फार्मासिस्ट हूं। और ये कहानी मेरी और मेरी दोस्त की है जो एक स्टाफ नर्स है। हम दोनो बचपन की सहेली हैं। और अब पढ़ाई पूरी होने के बाद भोपाल में ही रहते हैं और अलग अलग हॉस्पिटल में जॉब करते हैं। मेरी सहेली का नाम सीमा वो भी 25 साल की है और हम दोनो की अभी शादी नहीं हुई है लेकिन हम दोनो के ब्वॉयफ्रेंड हैं। लेकिन हमें बॉयफ्रेंड से ज्यादा लेस्बियन चुदाई करना पसंद है। और हम पिछले 7,8साल से लेस्बियन रिलेशनशिप में हैं,और जब भी मौका मिलता है चुदाई शुरू कर देते हैं, अब तो हम डील्डो और स्ट्रैप ऑन भी मंगवा लिए हैं और जबरदस्त चुदाई करते हैं।

कैसे मैं अपने लेस्बियन सहेली के साथ खुले पार्क में चुदाई की और फिर घर आकर डेढ़ फुट लंबे नकली लंड को अंदर चूत में पूरा निगल लिए

ये बात 2 साल पहले का है जब लॉकडाऊन लगा था उसके बाद जब चीजे थोड़ी सामान्य होने लगी तो हमारा मन बाहर घूमने का करने लगा। एक दिन मेरी छुट्टी थी, उस दिन संडे था, और सीमा के साथ चुदाई को काफी दिन हो गया था लेकिन मेरा मन घर में चुदाई के लिए नहीं बल्कि खुले में चुदाई करने का मन कर रहा था तो मैं सीमा को कॉल की और पूछी क्या कर रही हो तो वो बोली की यार कोविड के कारण रोज रोज 24 घंटा ड्यूटी करके थक गई हूं और आज भी ड्यूटी है तो मैं बोली की आज हॉस्पिटल कॉल करके बोल दो की तबियत ठीक नहीं है और आज चल मैं तुझे घुमाने ले चलती हूं, तो वो मान गई और मैं बोली की मैं 1 घंटे में तेरे घर पहुंच रही हूं फिर हम घूमने चलेंगे। और फिर मैं नहाने चली गई बाथरूम में शॉवर के बूंदे मेरे जिस्म पर पड़ते ही मेरा शरीर गर्म होने लगा और चूत में जबर्दस्त खुजली होने लगी और अनायास ही मेरा हाथ चूत पर चला गया। लेकिन मैं खुद पर कंट्रोल करी और खुद को समझाई की नहीं ऐसे नही ठंडा होना है सीमा के साथ आज अच्छे से मजे करेंगे। फिर मैं तैयार होकर सीमा के घर पहुंच गई। सीमा भी अकेले ही रहती थी तो मैं जब दरवाजा खटखटाया तो वह उस समय नंगे ही थी और जैसे ही दरवाजा खोली मैं उसे किस करने लगी तो वो बोली थोड़ा आराम से लगता है आज तुम पूरे मूड में हो। फिर मैं खुद पर कंट्रोल किया और बोली अभी तक तुम तैयार नहीं हुई। तो वह बोली तैयार हो जाती तो तुम मुझे इस तरह नंगे कैसे देखते।

फिर मैं बोली की जल्दी से तैयार हो जाओ और मैं बोली की जींस मत पहनना लॉन्ग स्कर्ट पहन लो मैं भी लॉन्ग स्कर्ट ही पहन के आई थी। तो वह बोली यार लॉन्ग स्कर्ट पहन के घूमने तो मैं बोली की हां थोड़ा अलग भी तो होना चाहिए। फिर वो टॉप और लॉन्ग स्कर्ट पहन ली। और हम वहां से निकल गए। भोपाल में एक पार्क है जहां जोड़े जाते हैं और मस्ती करते हैं। और कुछ लोग तो झाड़ियों में चुदाई भी कर लेते हैं। तो हम भी वाहन पहुंच गए। अभी कोविड का मामला चल रहा था इसलिए वहां बहुत कम लोग थे। इसलिए हमें आसानी से एक पत्थर का ओट मिल गया और हम वाहन बैठ गए। कुछ देर हम बात करते रहे, और फिर सीमा मेरे नजदीक आ गई शायद वह भी समझ चुकी थी की मैं उसे यहां क्यों लेकर आई हूं। फिर सीमा मेरे करीब आ गयी और उसने अपना पैर मेरे पैरों के बीच में फंसा दिया फिर गले मे हाथ डाल कर मेरे बूब्स दबाने लगी और मुझे किस भी करने लगी। फिर वह अलग हुई और बोली यार यहां नहीं कोई देख लेगा। तो मैं उसे बोली साली रण्डी तुझे पता है कि मैं यहां क्यों लाई हूँ तुझे?

सीमा- साली कहीं यहां खुले में तू चुदाई

करने की तो नहीं सोच रही न

मैं- मेरा खुले में ही तो चुदाई करने का मन है तभी तो तुझे यहां लेकर आई हूं। वरना थोड़ी देर पहले हम दोनों घर पर ही तो थे, वहीं चुदाई कर लेते।

सीमा- नहीं यार, इधर कोई देख लेगा रूम में चल और उधर चोद लेना, लेकिन यहां नहीं

मैं- साली नखरे क्या दिखा रही है मैं तेरा आज रेप कर दूंगी मुझे अच्छे से चोदने दे नही तो।

सीमा – तू नही मानेगी कामिनी, तो इसलिए तुम मुझे जींस के बदली स्कर्ट पहनने बोली,साली तुम पहले से पूरा प्लानिंग करके आई है। ठीक है अब जब तेरा मन है तो चोद यही पे। मेरा भी मूड अब तुझे चुदवाने का करने लगा।

मैं सीमा के चूत को नॉनस्टॉप चाटने लगी और वो कराहते हुए चूत चटवा रही थी

और फिर सीमा ने अपना टॉप ऊपर दी और ब्रा भी ऊपर खिंच दी अपने दोनों बूब्स बाहर कर दिए, और बोली ले चूस कामिनी सारा दूध पी जा वैसे भी साली तुझे चुदवाए बहुत दिन हो गया। धूप के उजाले में सीमा के गोरे गोरे और बड़े बूब्स और भी हसीन लग रहे थे। अब तक मैंने सिर्फ बंद दरवाजे के पीछे लाइट की रोशनी में ही उसके चुचियों के दर्शन किए थे। फिर सीमा अपने ही हाथों से अपने दोनों बूब्स को मसलती हुई बोली कामिनी अब सिर्फ देखती ही रहेगी या दूध से भरी मेरी चुचियों को चूसेगी भी। फिरमैं इधर उधर नजरें दौड़ाई और तसल्ली की कोई देख नहीं रहा है, सुनसान था चारों तरफ और फिर मैं सीमा के दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसने और दबाने लगी। और फिर सीमा भी मेरे दूध मसलने लगी, और मुझे गली दी कुतिया काट न दांतों से क्या बच्चो की तरह चूस रही है तो मैं दांत गडा दी, तो वह आहहहह उम्मममहह उफ़ की और बोली तू हमेशा मुझे बहुत मजा देती है। फिर सीमा ने मेरे बालों को पकड़ कर किस करने ऊपर को मुझे खींचा और हम एक दूसरे के होंठों को मज़े से चूमने लगे। हम दोनों लिप लॉक करके होंठों को चूमने लगे थे, कभी कभी हम अपना जीभ एक दूसरे के मुंह में दे देते और चूसते। और फिर से मैं सीमा के एक दूध को अपने दोनों हाथों में पकड़ कर पीने लगी। अब सीमा ने मेरा टॉप ऊपर किया और ब्रा से मेरे भी दूध बाहर खींच लिए, औरअपने दोनों हाथों से दबाते हुए मेरे मम्मे मसलने लगी। हम दोनों बड़े ही प्यार से एक दूसरे के बूब्स को आपस में टकराने लगी। फिर सीमा मेरी चूची को दबाती हुई पीने लगी। सीमा की जीभ को महसूस करने के साथ साथ मैं फिर से इधर उधर देखने लगी कि कहीं कोई देख तो नहीं रहा, लेकिन आज पास कोई नही था।

फिर सीमा अपना गांड उठाई और स्कर्ट ऊपर कर दी और मैं देखी की वो तो पैंटी भी नही पहन कर आई थी। और फिर मैं उसके पैरों पर बैठ गयी और अपनी उंगलियां उसकी चूत पर घुमाने लगी। उसके चूत के दाने मोटे होने लगे थे, जैसे ही मैं उसका चूत का दाना रगड़ी वह चिल्लाई आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. क्या कर रही है साली सिर्फ ऊपर ही रगड़ेगी क्या अब जल्दी से अपनी उंगली अन्दर डाल न। और फिर मैंने अपनी दो उंगलियां उसकी चूत में डाल दी और जीभ से चूत के दाने को चाटने लगी।

सीमा – आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. … ओ माई गॉड … नीतू फक मी प्लीज

मैं सीमा की जांघों को पकड़ कर उसकी चूत नॉन स्टॉप चाटने लगी, मेरा जीभ तेजी से और जोर से दबा के उसकी चूत की छेद से लेकर चूत के दाने तक रगड़ रहा था। सीमा अपने दूध दबाती हुई चूत चटवाने का मज़ा ले रही थी और उसकी चूत चाटने में मुझे भी मजा आ रहा था। मुझे मालूम था कि जितना मजा सीमा को मिलेगा, उससे कई गुना ज्यादा वो अपनी बारी में मुझे मजा देती है। और तभी किसी की आने की वहां आवाज आई तो हम दोनों हड़बड़ाकर उठे और जल्दी से अपने कपड़े ठीक करके बैठ गयी। फिर मैंने कहा यार यहां तो मूड का कचरा हो जायेगा यहां से चल रूम पर ही सेफ रहेगा, और फिर हम दोनों उठे और उसके उसके रूम पर जाने लगे क्योंकि नजदीक उसी का तुम था यहां से।

हम स्कूटी से थे, और रोड सुनसान था, सीमा पूरे जोश में आ चुकी थी इसलिए वो पीछे बैठी हुई ही मेरे मम्मों से खेलने लगी

मेरे टॉप के अन्दर हाथ डाल कर निप्पलों को उंगलियों के बीच दबाने लगी। मुझे भी बहुत मजा आ रहा था। सड़क पूरी खाली होने के कारण मैंने भी उसे नहीं रोका।

तभी सीमा बोली यार जल्दी कर न अब मुझसे नहीं रहा जा रहा। और फिर थोड़ी देर में हम दोनों रूम के अन्दर आ गई और दरवाजा लगाते ही बिना किसी देरी के हमने अपने कपड़े वहीं उतार दिए, एक दूसरी से लिपट कर चूमने लगी और हमारे हाथ भी अपना काम बखूबी से करने लगे,हम एक दूसरे के चुचियों को मसलने लगे। हम दोनों मस्त होकर मादक आवाज में सिसकने लगी हमारे मम्मे भी आपस में मिल चुके थे हम एक दूसरी को चूमती हुई बेड की तरफ आ गईं और लेट कर अच्छे से लिपट गएअब हम दोनों की सांसें भी तेज हो गई थी। सीमा धीरे धीरे मेरे बदन को चूमती हुई नीचे जाने लगी पहले उसने मेरे होंठ चूमे, फिर गले, और कानो पर बाईट की और फिर मेरे मम्मों और निप्पलों को चूसने लगी और थोड़ी देर में नीचे जाने लगी और नाभि में जीभ डाल के चूसते हुए हुई मेरी जांघों पर आ गयी हम दोनों की चूत पूरी गीली हो गयी थी मुझे बहुत मजा आ रहा था तो मैंने अपने पैर फ़ैला दिए और सीमा मेरी तरफ देखती हुई मेरी चूत चाटने लगी, वो भी अपनी जीभ कभी अन्दर डाल देती और कभी बाहर निकाल कर चूत के ऊपर घुमाने लग जाती।कभी उंगली अंदर डालकर जोर जोर से अन्दर बाहर करती तो कभी मेरे चूत के दाने को हिला देती। मुझे बहुत मजा आ रहा था।

थोड़ी देर चूत चाटने के बाद सीमा अपनी चूत मेरी चूत पर रखकर रगड़ने लगी और हम दोनो के गीली चूत से मट्ठा महने की घच घच आवाज निकलने लगी

और मैं आंखें बंद करके कामुक सिसकारियां लेने लगी और कहने लगी सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. चाट बेबी मेरी चूत चाट उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. तू तो साली असली मजा देती है चाट मेरी चूत ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई चाट यार … अच्छे से पूरी जीभ डाल दे आंह मजा आ रहा है।

वो अपने होंठों को मेरी चूत पर दबाने लगी।

कुछ देर चूत चाटने के बाद सीमा ने मेरा एक पैर ऊपर किया और अपनी चूत मेरी चूत पर रख कर अपनी गांड गोल गोल घुमाने लगी। मैं भी नीचे से कमर हिलाने लगी, अब हम दोनों अपनी गीली चूत आपस में रगड़ने लगे और दोनों उत्तेजना भरी आवाजें निकालने लगीं सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई

और मैं चिल्ला रही थी आह आह चोद सीमू चोद मैं भी तुझे चोदूंगी उफ्फ जोर लगा साली कामिनी और जोर से रगड़ अपनी चूत मेरी चूत पर आह हम दोनों एक दूसरे की चूत से चूत रगड़ती रहे, कभी वो मेरे ऊपर, कभी मैं उसके ऊपर होकर चूत को रगड़ रही थी हैं चूत को रगड़ के ही चुदाई का सुख हासिल कर रहे थे। थोड़ी ही देर में हम दोनो की चूत एकसाथ पानी छोड़ दिया। फिर कुछ देर बाद हम दोनों 69 में आ गईं और फिर से एक दूसरे की चूत का स्वाद लेने लगे, हमारी गीली चूत की रगड़ से पानी थोड़ा झागदार बन चुका था, और देर सारा पानी आने के कारण पानी का स्वाद भी बढ़ चुका था। सीमा ने मेरी चूत अपनी जीभ से ही साफ कर दी और अपने होंठों को मेरी चूत में लगा कर मेरी चूत खाने लगी। मुझे उसके होंठों के अलावा दांत भी फील होने लगे मैं भी उसकी मोटी गांड पकड़ कर चूत को अपने मुँह में ढकेलने लगी और काटने लगी हमने ऊपर नीचे होकर काफी देर तक एक दूसरे की चूत चाटी। मैं उसके चूत के दाने को पकड़कर ऊपर भी खींचा तो वो सिहर जाती। और फिर मैं बोली यार सीमा अब चल असली वाला निकल ऐसे तो बहुत देर तक चूत चाट लिए। तो सीमा उठी और अलमारी से खजाने का डब्बा निकाली जिसमें सेक्स सेक्स टॉय, डील्डो और वाइब्रेटर रखे हुए थे। सीमा बोली तो जानेमन कौन सा मजा लोगी तो मैंने डबल साइड टिप वाला नकली लंड निकाला, जो काफी बड़ा था। पहले हम दोनों उसे अपने मुँह में लेकर ऐसे गीला करने लगी मानो असली लंड ही चूस रही हों। दोनो एकसाथ उस नकली लंड को चूस रहे थे। फिर हम दोनों घोड़ी की पोज़ में आईं और दोनों ने एक एक साइड से अपनी चूत में लंड डाल लिया। वह लंड बहुत मोटा था इसलिए शुरुआत में हम अपनी गांड धीरे धीरे आगे पीछे करने लगीं। और वह लंड बराबर हम दोनो के चूत में जा रहा था। अब वह नकली लंड डिल्डो हमारी चूत के अन्दर घचाघच जाने लगा और हमारी मादक आवाजें बाहर आने लगीं। फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड आहहहहहहहहह.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो हहहहहहहहहहहह…….. जोर से आहहहहहहहहहहहहहहह……

हम दोनो ने डेढ़ फुट लंबे नकली लंड को पूरा अपने चूत में धास ली और जोर जोर से चिल्लाते हुए चुदवाने लगे चोदो मेरी जान चोदो फाड़ डालो मेरी चूत

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड फक माइ पुसी बेब फक आहह उम्म महह फक मी साली रांड … आह चोद मां की लवड़ी।

हम दोनों मस्त होने लगे थे, और अपनी चूत की आग बुझाने में मगन हो चुके थे, हम एक दूसरी को गाली देती हुई हम दोनों मस्ती में खो गए थे और लगातार चोदे जा रहे थे। कुछ समय तक हम दोनों धीरे धीरे आगे पीछे होते रहे फिर जब दोनों की चूत थोड़ी खुली तो हम अपनी कमर और गांड तेजी से मटकाने लगे। और जोश में हम भूल चुके थे की वह लंड कितना बड़ा है और हमने वो नकली लंड अपनी चूत के इतना अन्दर ले लिया था कि हमारी गांड भी अब एक दूसरे से टच होने लगी मानो बीच में कुछ बचा ही नहीं हो।

उस वक़्त अगर कोई मर्द हमारी कामुक आवाज सुन लेता तो उसके लंड से 1 मिनट में ही पानी बाहर आ जाता। थोड़ी देर हम यूं ही तेजी से चुदाई करती रहे, और फिर मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया। सीमा का चूत पहले ही पानी छोड़ चुका था। फिर मैं रुक गयी और दोनों की चूत से वो बड़ा लंड बाहर निकाल लिया। वो पूरा लौड़ा हमारी चुतों के पानी में सराबोर हो चुका था, मैंने उस लंड को पकड़ कर सीमा की पूरी गांड और चूत पर घुमाया और अपनी चूत में उंगली करने लगी। फिर उसी नकली लंड से सीमा की गांड थपथपाने लगी प्रियंका अभी भी घोड़ी ही बनी हुई थी। मैं सीमा के चूत के नीचे सर रख कर लेट गयी और दुबारा चूत चाटने लगी। और वह एक बार फिर से झड़ने वाली थी, वो तेजी में अपनी चूत मेरे मुँह पर घुमाने लगी, मैंने जल्दी से बेड पर पड़ा दूसरा नकली लंड उठाया और जोर जोर से सीमा की चूत में अन्दर बाहर करने लगी। फिर सीमा चिल्लाने लगी- आंह चोद दे यार आह हहह पूरा लंड अन्दर डाल दे मेरी चूत में चोद मां की लौड़ी रंडी आंह बहनचोदी उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… .सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहह… ऊँहऊँहऊँहउहहहहहहहह

आज सारा कसर निकाल दो। चोदो मेरी प्यासी चुत को। चोदो मेरी जान। चोदो मेरी प्यासी चूत। आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई…..

आह आह जान मेरा चूत झड़ने वाला है रुकना मत … डालती रह प्लीज …चोदती रह मेरी जाना चोद मुझे तभी सीमा ने मुझे हटाया और बिस्तर पर ही सारा पानी निकाल दी। उसने पूरी बेडशीट गीली कर दी थी और मैं फिर से उसकी चूत पर हाथ फेरने लगी। सीमा ने कहा- आ मेरी जान, अब तेरी चूत की बारी है उसने छोटा लंड गीला करके मेरी गांड में डाला और मैं सिसकती हुई लंड अपनी गांड में ले ली। सीमा मेरे पैर फैला कर चूत पर वाइब्रेटर घुमाने लगी और चाटने लगी। बाइब्रेटर का कम्पन चूत में काफी मजेदार महसूस हो रहा था। सीमा अपने दोनों हाथों से वाइब्रेटर और डिल्डो का इस्तेमाल कर रही थी। मेरी चूत और गांड़ दोनो का आनंद मुझे आ रहा था। मैं मस्त होकर मादक सिसकारियां लेने लगी और अपने बूब्स खुद मसलने लगी। मेरी चूत ने पहले हल्का पानी आया, तो

सीमा ने वाइब्रेटर छोड़ा और चूत में मुंह लगा कर पानी चाटने लगी, उसकी जीभ के मेरी चूत के अन्दर जाते ही बाकी का पानी घलघला कर बाहर आ गया। फिर सीमा मेरी चूत के पानी को चाटने लगी, जैसे की वो सालो से प्यासी हो।

मैं- साली, कामिनी तू तो दिन पर दिन तू और जंगली होती जा रही है, लगता है तेरी चुदाई एक दिन ऐसी करनी पड़ेगी की तू पानी मांग जाए

सीमा- तेरे लिए कुछ भी पागलपंथी कर सकती हूँ मेरी जान तू ही मेरी असली जान है और तुझसे चुदाई करके ही मैं तृप्त होती हूं।

फिर हम दोनों कुछ देर नंगी बैठी रहीं, एक दूसरी के बूब्स को दबाती हुई मस्ती करती रहीं। फिर सीमा उठकर किचन में गई और स्कॉच की बोतल और 2 ग्लास लाई और पैग बनाकर मुझे भी दी और सिगरेट जलाई और दोनों यूं ही नंगी बैठकर बातें करते हुए शराब और सिगरेट का आनंद लेने लगे।

फिर एक राउंड का चुदाई किए उसके बाद हम दोनो एक दूसरे से चिपक के नंगी ही सो गए। हम दोनों सीधे शाम को उठे और बाथरूम में शॉवर लेते हुए एक बार चुदाई किए और सेक्स खिलौने और खुद को साफ किया। उसके बाद मैं कपड़े पहनी और अपने घर आ गई।

तो दोस्तों हमारी लेस्बियन चुदाई आपको कैसी लगी, हमें कमेंट करके बताना और जल्द मिलते हैं एक और चुदाई की रसीली कहानी में।

अब मुझे दीजिए इजाजत और ऐसी ही रस से भरी चूत चुदाई की अन्य कहानियो के लिए https://nightqueenstories.com के अन्य पेज पर जाएं। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें। मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “विधवा मालकिन की सूखी चूत में पानी की बारिश
हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories
इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

नमस्कार।

93% LikesVS
7% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *