चूत का रसपान

 461 

सौतेली मां का अय्याश विधायक यार ने बेटी की भी चूत का रसपान कर लिया।

फिर मैं भी सोची की साले से लूटने का बढ़िया मौका है तो मैं बोली की गांड दूंगी लेकिन इसका सौदा अलग होगा। तो वह बोला साली मैं जानता था तू अपनी मां से भी ज्यादा चुदक्कड़ और हरामी है बोल तुझे क्या चाहिए तो मैं बोली 20 लाख रुपया अभी तुरंत मेरे अकाउंट में ट्रांसफर करो, और कल तक मुझे एक गाड़ी चाहिए। तो वो बोला चेक लेगी या तेरे अकाउंट में डालूं, तो मैं बोला अभी ट्रांसफर करो। फिर वह जेब से मोबाइल निकाला और 20 लाख मेरे अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया।

अब मैं खुशी खुशी अपने सारे कपड़े उतारकर नंगी हो गई और वह मुझे देखता ही रह गया। और फिर वह मुझे पीछे से कसके पकड़ लिया। और मेरी गांड उसके लंड को टच करने लगा। उसका कड़क लंड मुझे गड़ता सा महसूस हो रहा था

मेरे प्यारे दोस्तों और https://nightqueenstories.com के सभी सेक्सी पाठकों को मेरा सादर नमस्कार। दोस्तों मेरा नाम ख्याति वर्मा है और मैं हिमाचल की रहने वाली हूं। मेरी उम्र 25 साल है और मैं अभी अनमैरिड हूं। मेरी मॉम का नाम मीना है जो की मेरी सौतेली मॉम हैं, उनकी उम्र 38 साल है लेकिन वो भी देखने में मात्र 25, 26 साल की जवान लगती हैं, जब हम साथ में होते हैं तो लोग हमे बहन समझते हैं। मेरी अपनी मॉम का देहांत हो चुका है। मैं दुबली पतली नहीं हूं और पूरी तरह से जवान भरे बदन की फिट लड़की हूं मैं नियमित योग और एक्सरसाइज करती हूं। मेरी जिस्म हाहाकारी है और जो भी मुझे पैदल चलते देखते हैं उनके लंड से पक्का पानी झड़ जाता होगा। एक बार जिसकी नजर मुझ पर पड़ गई तो फिर हटती नही है।

मां की चुदाई देखते देखते कैसे मैं मां के यार से अपनी चूत और गांड का सील खुलवा ली और चुदाई का असली आनंद ली

दोस्तों मेरी सौतेली मां एक कड़क और मस्त माल हैं वो भी नियमित योग करती हैं। और वो एक नंबर की रंडी औरत है, उनके बहुत से यार हैं, उनमें से एक विश्वनाथ चौधरी नाम का विधायक है। दरअसल मेरी मॉम एक राष्ट्रीय पॉलिटिकल पार्टी की कार्यकर्ता है। तो मेरी मॉम का उस विधायक के साथ चूत लंड का रिश्ता था। और विश्वनाथ के अय्याशी के लिए मेरा घर सेफ था वह आता था तो पूरी रात या घंटो मॉम और वो एक कमरे में बंद रहते थे और अंदर से चुदाई की मादक आवाजें आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह…. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह… .सससीईईईईईईसससीईईईईईई आती रहती थी। और मैं हमेशा दरवाजे के की-होल से देखती थी कि विश्वनाथ मेरी मां मीना को कितनी बेरहमी से चोदता था, वह हर स्टाइल में मॉम को चोदता था। उन दोनों की मस्त चुदाई से मेरी भी पैंटी गीली हो जाती थी

और मैं अपनी चूत में उंगली डालकर चुत को जोर जोर से रगड़ती रहती थी और झड़ जाती थी। मैं अपने घर में शॉर्ट कपड़े पहनती थी जिसकी वजह से विश्वनाथ की बुरी नीयत मेरे पर भी थी, लेकिन मां की वजह से वो कुछ बोल नहीं पा रहा था। वह मेरी मॉम पर अथाह दौलत लुटाता था मेरे घर में हर साजो समान था। हमारी गिनती मोहल्ले में अमीर और रहीस लोगों में गिनती होता था। और ये सब मेरी मॉम की चूत से निकलकर आया था। मेरी मॉम की चूत का जितना मट्ठा महाता था उतना ही दौलत निकलकर आता था। विश्वनाथ खुद तो मॉम को चोदता ही था वह मेरी मॉम का इस्तेमाल भी करता था वह पिछले 10 साल से मेरी मॉम का इस्तेमाल कर टिकट हासिल करता था। मतलब वह मेरी मॉम को दिल्ली के बड़े नेताओं के सामने मांस के टुकड़े की तरह डाल देता था और वो सब मेरी मॉम को चोदकर विश्वनाथ को टिकट देते थे।

और इस बार भी वही होने वाला था कुछ समय बाद इलेक्शन आने वाला था तो विश्वनाथ मॉम को बोला की मीना तुझे दिल्ली जाना होगा, वहां कुछ बड़े नेता और मंत्री को तुझे खुश करना होगा, ताकि इस बार भी मुझे टिकट मिल जाए और तेरा परिचय भी उन बड़े नेताओं से हो जाए, हो सकता है अगली बार तुझे ही टिकट मिल जाए। तो मॉम विश्वनाथ से बोली, मेरे साथ तुम नहीं चलोगे क्या? तो वह बोला यार मुझे यहां का सब संभालना है, चूंकि तू राजनीति में आना चाहती है, इसलिए तुझे अकेले ही जाना होगा। और मैं अगली बार तेरे नाम को आगे कर दूंगा। तो मेरी मां मान गईं और दिल्ली रवाना हो गईं। लेकिन यह उस बुड्ढे की चाल थी मेरी मॉम को दिल्ली भेजने का। अब मैं घर पर अकेली थी। फिर दूसरे दिन मेरे घर विश्वनाथ आया तो मैं उस समय स्कर्ट और टॉप पहनी हुई थी। उस छोटी सी स्कर्ट में मेरी सिर्फ गांड ही छिप रही थी, बाकी मेरी मोटी और दूध सी सफेद जांघें पूरी तरह दिख रही थी। और मेरा टॉप भी मेरी नाभि के ऊपर तक का था, जो मेरे बूब्स को ही छुपा पा रहा था। इस वजह से मेरी पूरी जवानी साफ़ झलक रही थी। और मेरी नाभि मानो सीलबंद गांड की तरह दिख रही थी जिसमे मैं एक पिन ज्वेलरी भी पहनी हुई थी।

विश्वनाथ बोला साली तेरी मां नही है तो क्या हुआ तू तो है ना तेरी चूत को चोदकर आज तुझे जन्नत का सैर कराऊंगा।

जब विश्वनाथ आया तब मैं एकदम सेक्सी माल लग रही थी। मैं उसे देखकर चौंक गई क्योंकि मॉम नहीं थी और बोली अंकल मॉम नहीं है। तो वह बेशर्म की तरह बोला तेरी मां नहीं है तो क्या हुआ तू तो है। मैं बोली, क्या मतलब है आपका, तो वह बोला- आज तेरे से वो सब करूंगा रानी, जो मैं तेरी मां के साथ करता था, और मैं जानता हूं तू हमारी चुदाई दरवाजे के होल से देखती है और अपनी चूत को रगड़ के पानी निकालती है। मैं ये सुनकर हैरान हो गई की इसे कैसे मालूम है। और उसकी बात सुनकर मैं एकदम से सकपका गई और बोली- नहीं, मैं कुछ नहीं देखती थी, तो वह बोला, साली मैं सब जानता हूँ, और मैं यह भी जानता हूँ कि तेरा चक्कर अक्षय के साथ चलता है और तू उससे जी भर के चुदवाती है। अक्षय मेरा ब्वॉयफ्रेंड है, लेकिन उसके मुँह से ये सुना तो मैं अवाक रह गई की इस साले हरामी को ये सब कैसे पता है।

फिर मैंने विश्वनाथ से कहा देखो, तुम मां से सुनील के बारे कुछ मत बोलना, तो वह अपने होंठो पर जीभ फिराते हुए हंस कर बोला, ठीक है, तू मुझे खुश कर दे और अपने बॉयफ्रेंड से चाहे जो कर उसे मुझे क्या लेना देना मुझे तो बस तेरी गदराई जवानी का रसपान करना है। उसकी बातों से मुझे भी हंसी आ गई और मैं बोली ठीक है जब तेरा यही इच्छा है तो ले चख ले मेरी जवानी का स्वाद लेकिन मेरी एक शर्त है उसे पहले तुझे पूरा करना होगा फिर चाहे तू जितना मेरी चूत मार ले। तो वह बोला खोल मुंह खोल अपना तो मैं बोली 5 लाख लूंगी तो वह बोला चल दिया तो वह बोला लेकिन तुझे मुझसे अपनी गांड भी मरवानी होगी। तो मैं घबरा गई और बोली नही मैं गांड नही मरवाऊंगी। मुझे बहुत दर्द होगा आजतक मैं कभी गांड नही मरवाई हूं। तो वह बोला नही मरवाई है तो क्या हुआ आज मरवाओ। चूत भी तो एक दिन पहली बार मरवाई ही है। तो आज तेरे गांड का उद्घाटन मैं कर देता हूं। वैसे भी साला सीलबंद चूत तो मिलता नही मुझे तो सीलबंद गांड ही सही।

फिर मैं भी सोची की साले से लूटने का बढ़िया मौका है तो मैं बोली की गांड दूंगी लेकिन इसका सौदा अलग होगा। तो वह बोला साली मैं जानता था तू अपनी मां से भी ज्यादा चुदक्कड़ और हरामी है बोल तुझे क्या चाहिए तो मैं बोली 20 लाख रुपया अभी तुरंत मेरे अकाउंट में ट्रांसफर करो,और कल तक मुझे एक गाड़ी चाहिए। तो वो बोला चेक लेगी या तेरे अकाउंट में डालूं, तो मैं बोली अभी ट्रांसफर करो। फिर वह जेब से मोबाइल निकाला और 20 लाख मेरे अकाउंट में ट्रांसफर कर दिया।

Meet Women Online!!
InstaSexBanner

अब मैं खुशी खुशी अपने सारे कपड़े उतारकर नंगी हो गई और वह मुझे देखता ही रह गया। और फिर वह मुझे पीछे से कसके पकड़ लिया। और मेरी गांड उसके लंड को टच करने लगा। उसका कड़क लंड मुझे गड़ता सा महसूस हो रहा था वह पीछे से मेरी दोनों बगलों में से अपने हाथ आगे निकाल कर मेरे बूब्स दबा रहा था, और मैं कामुक सिसकारी भरने लगी सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई करने लगी।

विश्वनाथ मेरे चूचे मसलते हुए बोलने लगा क्या मस्त दूध हैं तेरे, जैसी मां माल है वैसी ही बेटी है। और मैं बस वासना में सिसियाती रही सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई करने लगी।

विश्वनाथ का लंड 8 इंच का था और मेरे बॉयफ्रेंड के लंड से 3 इंच बड़ा था, और जब वह मेरी चूत में डाला मेरी तो सांस अटक गई

और फिर वह मुझे नीचे धकेल के बिठा दिया और मेरे मुंह में लंड देकर चुसवाने लगा मैं भी मस्त होकर उसकी लंड चूसने लगी, उसका लंड मेरे बॉयफ्रेंड से भी बड़ा था। उसका लंड लगभग 8 इंच का रहा होगा इतना मोटा लम्बा लंड मेरे ब्वॉयफ्रेंड का भी नहीं था उसका तो बमुश्किल 5 इंच का है। उसका लंड मेरे गले तक जा रहा था और मैं मैं गों गों करके लंड मुँह में ले रही थी और वह मेरे मुंह में चोदे जा रहा था।

और तभी उसके लंड ने मेरे मुंह में माल छोड़ना शुरू कर दिया तो मुझे अजीब लगा और मैं हटने की कोशिश करनें लगी लेकिन वह जोर से मेरे मुंह में लंड पेले हुए था। मानो मेरी सांस अटक गई थी लेकिन उस बेरहम को कोई फर्क नहीं पड़ रहा था। और फिर उसका लंड का पानी मजबूरन मुझे निगलना पड़ा। मैंने आज तक अपने ब्वॉयफ्रेंड के लंड का पानी भी अपने मुँह में नहीं लिया था। लेकिन इस जानवर ने पूरा पैसा वसूल करने का प्लान बना लिया था।

फिर वह मुझे उठाया और गोद में ले लिया और मुझे किस करने लगा जल्दी ही उसका लंड फिर से खड़ा हो गया। और फिर मैं उसके लंड को हिलाने लगी। फिर वह मुझे बिस्तर पर ले गया और खुद सो गया और मुझे 69 की पोजिशन में आने को बोला और फिर वह मेरी चूत चाटने लगा और मैं उसका लंड चूसने लगी। मेरी चूत चाटने साथ साथ वह मेरी चुत के दाने को दांत से काट रहा था, उस समय मुझे हल्का सा दर्द भी होता था लेकिन मजे के कारण मैं कुछ नहीं कह रही थी। मुझे भी बहुत मजा आ रहा था और कुछ बोलती भी कैसे 20 लाख एक झटके में जो उसने मुझे दे दिया था। प्लस गाड़ी अलग से। कुछ देर बाद मेरी चुत का पानी छूट गया था लेकिन विश्वनाथ का लंड एकदम टाइट हो चुका था। फिर उसने घुटने के बल बैठ कर मेरी टांगें फैला दीं और मेरी चूत पर अपना लंड सेट किया।

वो मेरी चिकनी चुत को देखकर बोला साली अपनी मां की तरह ही एकदम चिकनी चुत रखती है। फिर उसने मेरी चुत की फांकों को अपने लंड के सुपारे से रगड़ा और एक झटके से मेरी चूत में अपना लंड पेल दिया उसके जोर से धक्का देने से पूरा लौड़ा मेरी चुत के अन्दर घुसता चला गया। और मुझे लगा जैसे मेरी चूत को किसी ने चाकू से चीर दिया है। और आज मुझे समझ आया कि मेरी चूत की असली चुदाई तो हुआ ही नहीं है, जो आज हो रहा है। मेरे मुंह से तो जोर से चीख निकल गई थी।

और फिर वो वो बिना रुके मेरी चुत को धकापेल चोदने लगा मैं दर्द से चीख रही थी- आआहह … उउऊह्ह्ह … मर गई … धीमे चोद आह फट गई मेरी चूत साले जानवर बन गया है तू तो, तो वह चोदते हुए बोला साली 20 लाख और गाड़ी का पैसा आज वसूल करूंगा। 20 लाख तेरी चूत से वसूलूंगा और गांड मारकर गाड़ी का पैसा वसूलूंग तू बस चुदवाती रह। उसको तो मेरी चीखों से और मजा आने लगा था और वो दुगनी रफ्तार से मेरी चूत चोदे जा रहा था, बीच बीच में वो मेरे मुँह में मुँह लगाकर मुझे किस भी कर रहा था और एकदम से अपने मुँह का ढक्कन मेरे मुँह पर जमा देता था, जिससे मेरी सांस रुकने लगती थी वो साला कुकुर पूरा हैवान बन चुका था। कुछ देर बाद मुझे भी विश्वनाथ से चुदवाने में मजा आने लगा और हम दोनों पोजिशन बदल बदल कर चुत चुदाई का मजा लेने लगे। लगभग 40 मिनट से वह मुझे चोद रहा था और मैं 5 बार झड़ चुकी थी लेकिन अब मैं और नही चुदवा सकती थी,शायद मेरी चूत रगड़ खा के अंदर से छिल चुकी थी और बहुत तेज जलन होने लगा था। अब मैं समझी की मॉम उससे चुदवाने के बाद लंगड़ा के क्यों चलती थी। फिर मैं उसे हाथ जोड़कर बोली प्लीज अब रहम करो मैं अब और नहीं चुदवा पाऊंगी तुम बाद में चोद लेना मेरी चूत में बहुत तेज जलन हो रहा है। तो वह गाली देते हुए बोला चुपकर साली कुतिया। फिर बोला ठीक है चूत में जलन हो रहा है न अब तेरी गांड मारूंगा तो मुझे भी लगा की शायद वह ठीक ही बोल रहा है गांड ही मारने देती हूं कम से कम जान तो बचेगी।

विश्वनाथ ने ढेर सारा थूक अपने लंड और मेरे गांड पर लगाकर एक झटके में पूरा लंड अंदर घुसेड़ दिया और मैं बेहोश हो गई तब भी वो जानवर हैवान की तरह मुझे चोदने लगा

और फिर उसने मेरे पैरों को अपने कंधे पर लगाया और अपने लंड और मेरी गांड के छेद पर ढेर सारा थूक लगाया फिर उसने अपना लंड मेरी गांड पर सेट किया और ऐसा जोर का धक्का दिया की मेरी गांड को चीरते हुए उसका लंड पूरा समा गया। मैं जोर से चीखी आआह मर गई मेरी गांड फट गई … आआह … छोड़ दे कमीने … ऊऊऊह जान ले लेगा क्या मेरी। मगर वह जानवर हैवान बन चुका था। और वो जम कर मेरी गांड चोदने लगा। मैं उसके झटके सह नहीं पा रही थी, उसने करीब 15 मिनट तक मेरी गांड मारी और फिर उसने अपना वीर्य मेरी गांड में ही छोड़ दिया और कुत्ते की तरह हांफते हुए मेरे ऊपर लुढ़क गया। उस दिन वह मेरी चूत 3 बार और गांड 2 बार मारा।

वो ताबड़तोड चुदाई के बाद थक गया था, तो उसने फोन करके दारू की बोतल मंगाया और मटन भी। फिर हम दोनों ने जम के दारू और मटन का मजा लिया। सच कहूं दोस्तों तो मुझे विश्वनाथ से चुदवाकर काफी अच्छा लगा था इतना अच्छा मेरा बॉयफ्रेंड भी कभी नहीं मुझे चोदा था। आज मेरी असली चुदाई हुई थी। और जब तक मेरी मां दिल्ली से लौटकर नहीं आईं, तब तक विश्वनाथ और मेरा चुदाई का खेल लगातार चला। मैं विश्वनाथ के लंड की दीवानी हो गयी थी। और फिर 10 दिन बाद मेरी मां दिल्ली से लौट आईं।

दोस्तों विश्वनाथ से चुदाई के बाद मेरी जीवन ही बदल गई और मैं अपने मॉम से भी बड़ी रंडी चुदक्कड़ बन गई, और फिर कैसे मैं राजनीति ज्वाइन की और अपनी चूत की सीढियां बनाकर नेताओं के लंड का ऐसा स्वाद चखी की मेरी किस्मत ही बदल गई। ऐसे ऐसे ही 5 साल बीत गए और मैं 31 साल की उम्र में सबसे युवा विधायक बन गई। ये सब मैं किसी और कहानी में बताऊंगी। इसके लिए मुझे ज्यादा से ज्यादा कमेंट करिए और इस कहानी को शेयर करिए।

अब मुझे दीजिए इजाजत और ऐसी ही रस से भरी चूत चुदाई की अन्य कहानियो के लिए https://nightqueenstories.com के अन्य पेज पर जाएं। हम आपको पूरा यकीन दिलाते हैं आपकी पसंद की हर कहानियां लेकर आएंगे। और चुत औऱ लन्ड की गर्मी शांत करते रहेंगे।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें। मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “लेस्बियन चुदाई का आनंद”

हिंदी की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे Indian Antarvasna Sexy Hindi Seductive Stories

इंग्लिश की कहानियों के लिए यहां क्लिक करे  Best Real English Hot Free Sex Stories

नमस्कार।

 

60% LikesVS
40% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *