एक्ट्रेस और कुत्ते की चुदाई

 322 

अनजाने में कुत्ते ने टीवी एक्ट्रेस के गांड का सील खोला: एक्ट्रेस और कुत्ते की चुदाई

उस दिन भी मैं सूट खत्म कर रात को 11 बजे घर आई थी लेकिन उस दिन मेरा मूड खराब था क्योंकि मेरे प्रोड्यूसर ने मुझे चोदा था जो एक 55 साल का बूढा था। और मुश्किल से उसका लन्ड मैं चूस चूस मर खड़ा कर पाई थी। उसने भी मेरे चूत को कुत्ते की तरह चाटा था और मुझे उत्तेजित किया था मुझे चूत चटवाने में बहुत मजा आया था लेकिन साला बूढा हरामी खूसट जैसे ही मेरे चूत में लन्ड डाला और 3, 4 बार हिलाया उसका पानी मेरे चूत में निकल गया जबकि उस दिन मैं चुदवाना चाहती थी अच्छे से चुदवा कर चूत की आग शांत करना चाहती थी। इस कारण मेरा मूड पूरा कचरा हो रखा था।

तो मैं घर आते ही रॉकी के पास थोड़ी देर बैठ के समय बिताई। और फ़ीर नहाने चली गई। मैं नहा के बाथरूम से नंगा ही निकली थी और मेंरे रॉकी तब मुझे देख लिया और दौड़कर आया और मेरे गोद मे आ गया। और पहले तो वह मेरे होंठो और गालों को चाटा फिर मेरी निप्पल को चाटने लगा उसकी रुख़रीली जुबान के घर्षण से मेरे अंदर का हवस जागने लगा। वेसे भी मैं पहले से चूत का सत्यनाश करवा के आयी थी। सो मेरा भी मन मचलने लगा।

कैसे हो दोस्तों, उम्मीद करता हूँ सभी अच्छे होंगे। https://nightqueenstories.com/ के सभी पाठकों और मेरे प्रिय मित्रों को मेरा नमस्कार। दोस्तों मेरा नाम सोनिया राठौर है मैं एक टीवी एक्ट्रेस हूँ। मेरी उम्र 33 साल है। और चूत चुदवाना तो हमारा पेशा है क्योंकि चूत मरवाकर ही तो हमे काम मिलता है। एक तरह से हमारी चूत और गांड हमारे काम की चाभी है। लेकिन सच कहूँ तो जब भी ऐसे समझौता करके या डाइरेक्टर, प्रोड्यूसर, या एक्टर से चुदवाना पड़ता है तो बस वे लोग ही भोगते हैं और हमे मजा आने का नाटक करना पड़ता है और दिखावे के लिए आहहहहहहहहहहहहहहहहह… उहहहहहहहहहहहहहहहहह…. चिल्लाना पड़ता है, जबकि सच्चाई यह है कि हमे कोई मजा नही आता। हमे चुदाई का असली मजा तभी मिल पाता है जब हम खुशी से चुदवाते हैं।

कैसे में चूत की आग शांत करवाने के चक्कर मे अपनी गांड कुत्ते से फड़वा ली

दरअसल यह कहानी है मेरे और मेरे प्यारे कुत्ते रॉकी के बीच चुदाई की। हाँ दोस्तों सच यही है कि मैं सिर्फ अपने रॉकी से चुदवाकर ही संतुष्ट हो पाती हूँ मेरे लिए असली मर्द बस वही है। बाकी तो सब साले हिंजड़े हैं और अपनी लण्ड की गर्मी शांत करते हैं जबकि मेरा रॉकी मेरे चूत की गर्मी शान्त करता है।

लेकिन ये तो हुई चूत चुदवाने की बात लेकिन यह कहानी कुत्ते के लन्ड और मेरी चूत की नही है बल्कि यह कहानी है मेरे रॉकी और मेरे गांड की सील खुलने की। रोज की तरह मैं रात को घर आती तो रॉकी उछल कर मुझपर चढ़ जाता। वह इतना ट्रेंड हो गया था कि बिना बताए मेरी चुचियों के निप्पल और चूत को चाटने लगता और उसे अपने आप समझ आ जाता कि मैं कब पूरी तरह से उत्तेजित हो चुकी हूँ और फिर वह अपना लण्ड मेरे चूत में डाल देता और चोदने लगता कई बार उसका गांठ मेरे चूत में चला जाता तो मुझे घंटो इंतजार करना पड़ता था। और जब उसका पानी पूरा निकल जाता तब उसका लन्ड सिकुड़ता और मेरी चुत से बाहर आता।

उस दिन भी मैं सूट खत्म कर रात को 11 बजे घर आई थी लेकिन उस दिन मेरा मूड खराब था क्योंकि मेरे प्रोड्यूसर ने मुझे चोदा था जो एक 55 साल का बूढा था। और मुश्किल से उसका लन्ड मैं चूस चूस कर खड़ा कर पाई थी। उसने भी मेरे चूत को कुत्ते की तरह चाटा था और मुझे उत्तेजित किया था मुझे चूत चटवाने में बहुत मजा आया था लेकिन साला बूढा हरामी खूसट जैसे ही मेरे चूत में लन्ड डाला और 3, 4 बार हिलाया उसका पानी मेरे चूत में निकल गया जबकि उस दिन मैं चुदवाना चाहती थी अच्छे से चुदवा कर चूत की आग शांत करना चाहती थी। इस कारण मेरा मूड पूरा कचरा हो रखा था।

तो मैं घर आते ही रॉकी के पास थोड़ी देर बैठ के समय बिताया। और फ़ीर नहाने चली गई। मैं नहा के बाथरूम से नंगा ही निकली थी और मेंरे रॉकी तब मुझे देख लिया और दौड़कर आया और मेरे गोद मे आ गया। और पहले तो वह मेरे होंठो और गालों को चाटा फिर मेरी निप्पल को चाटने लगा उसकी रुख़रीली जुबान के घर्षण से मेरे अंदर का हवस जागने लगा। वेसे भी मैं पहले से चूत का सत्यनाश करवा के आयी थी। सो मेरा भी मन मचलने लगा। और मैं रॉकी को कीस करने लगी फिर उसे बोली बेटा धैर्य रख चलो सोफे पर चलते हैं। मैं सोफे पर आकर बैठ गई और हल्का पीछे की तरफ झुक गई जिससे रॉकी को सहूलियत मिला और वह फिर से मेरी चुचियो को चाटने लगा। उसकी जीभ ने मेरे चूत में भी हलचल मचा दिया था। अब मैं उसके लन्ड को सहलाने लगी थोड़ी ही देर में उसका लन्ड बाहर आने लगा। रॉकी का लन्ड कुत्ते जैसा नही था बल्कि उसका लन्ड किसी मर्द जैसा ही था। सभी कुत्तों का लन्ड आगे से नोकदार और पतला होता है लेकिन रॉकी के उसके उलट था। उसके लन्ड पर भी मर्द के जैसा बड़ा सा सुपाड़ा था और वह बहुत बड़ा था।

 

फिर रॉकी अगला दोनों पैर सोफे के ऊपर तरफ रखा और उसका लन्ड मेरे मुँह पर आ गया और मैं चूसने लगी। उसके लन्ड से बून्द बून्द पानी गिर रहा था। और वह बहुत सेक्सी लग रहा था। जल्द ही रॉकी पूरे जोश में आ गया। फिर मैं सोफे पर लेट गई और रॉकी मेरा चूत चाटने लगा। मुझे बहुत आनंद आ रहा था और मै सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई.. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई कर चूत चटवाए जा रही थी जल्द ही मेरा चूत पानी भी छोड़ दिया और मुझे बहुत मजा आया। और मुझे अब जाकर थोड़ी आराम मिली जो चूत पिछले 5,6 घंटो से तड़प रहा था उसका पानी निकला तो चैन आया। रॉकी लगातार अपने जीभ से मेरे चूत को चाटे जा रहा था और अब मैं भी चुदना चाहती थी सो मैं सोफे पर कुत्तिया बन गई। और उसका लन्ड पकड़ के चूत पर सेट की और वह बिना देरी के लन्ड मेरी चुत में घुसेड़ दिया। और जोर जोर से चोदने लगा मुझे बहुत मजा आ रहा था सो मैं फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड आहहहहहहहहह.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो हहहहहहहहहहहह…….. जोर से आहहहहहहहहहहहहहहह……

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….फक मि डार्लिंग फक मि कर चुदवाने लगी मैं पीछे हाथ करके लगातार उसे सहला रही थी। तभी मेरा चूत पानी छोड़ने लगा और मैं गांड पीछे कर करके उसका लन्ड अंदर लेने लगी। थोड़ी देर में मुझे थोड़ी संतुष्टि मिली। फिर मैं रॉकी को रुकने का इशारा की तो वह रुक गया। और मैं उसका लन्ड खिंच के निकाली और फिर सीधा होकर लेट गई और रॉकी को ऊपर लेकर उसके लन्ड को चुसने लगी उसके लन्ड से हमेशा पानी बून्द बून्द कर गिरता था। जो मुझे बहुत पसंद आता था। फिर रॉकी को मैं पीछे की तो वह मेरी चूत फिर चाटने लगा।

 

फिर मैं उसे चोदने का इशारा की फिर वह अपना लन्ड मेरी चूत में डालकर चोदने लगा। इस बार मैं सीधी ही थी थोड़ी ही देर में मेरे चूत ने फिर पानी छोड़ दिया और मेरे चूत से पानी निकलर गांड के छेद को पूरा गीला कर दिया कुछ पानी सोफे पर भी गिर गया। लेकिन मैं अभी भी चुदना चाहती थी और रॉकी भी अभी गर्म ही था। लेकिन रॉकी को इस स्टाइल में चोदने में दिक्कत होता था। वह सही से तभी चोद पाता था जब मैं कुतिया बनी रहती थी। तो मैं फिर से सोफे पर ही कुतिया बन गई और वह मेरे कमर पर अगला दोनों पैर रख के चूत में लन्ड डालने कोशिस करने लगा लेकिन लण्ड अंदर नही जा रहा था सो मैं उसके लण्ड को पकड़ी और चुत के छेद पर सेट की तो उसका लन्ड घच से आवाज के साथ मेरे चूत में समा गया।

अब वह जोर जोर से चोदने लगा। मैं लगातार चिल्ला रही थी और उससे चोदवा रही थी मुझे बहुत मजा आ रहा था और मैं पूरी तृप्त होना चाहती थी और चुदवाते हुए मुझे चिलाना बहुत पसंद था सो मैं चिल्ला रही थी फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..फक मि डार्लिंग फक मि। आहहहहहहहहहहहहहहहहह, हाफ हार्ड बेब फक हार्ड आहहहहहहहहह.. चोदो मेरी जान चोदो…. आआआहहहहहहह चोदो मेरी चुत। चोदो हहहहहहहहहहहह…….. जोर से आहहहहहहहहहहहहहहह……

सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह….फक मि डार्लिंग फक मि सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. आहहहहहहहहहहहहहहहहह….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. उममहःहहहहहहहहहहहहहहहह….सससीईईईईईईसससीईईईईईई….. ओहहहहहहहहहहहहहहहहह…. ओहहहहहहह हहहहहहह…… आह हहहहहहहहहहहहह…..फक मि डार्लिंग फक मि।

और फिर मैं तीसरी बार झड़ने लगी। लेकिन रॉकी अभी भी चोदे जा रहा था। और अब उसकी स्पीड बढ़ चुकी थी क्योंकि चूत भी गीला हो गया था इस कारण वह आसानी से जल्दी जल्दी लन्ड अंदर बाहर कर पा रहा था।

तेज चोदने के चक्कर मे रॉकी का लन्ड मेरी चूत से बाहर निकला और मेरी गांड में समा गया, थोड़ी देर में उसके लन्ड का गांठ मेरी गांड में घुस गया तो मुझे ऐसा लगा कि किसी ने चाकू से मेरी गांड चिर दिया

और इसी धकमपेल में एक दुर्घटना हो गई चुकी गांड तो मेरे चूत के पानी से पहले से गीला था और रॉकी जब तेज तेज चोदने लगा तो उसका लन्ड झटके में मेरे चूत से बाहर आ गया और वह जोर से झटका मारा लेकिन साला गलत जगह नश्तर चला दिया और उसका लन्ड मेरे चूत के बजाए गांड में घुस गया। चुकी मैं गांड तो कई बार मरवाई थी लेकिन सिर्फ मर्दों से रॉकी से मै कभी गांड नही मरवाई थी लेकिन उसका लन्ड मेरे गांड में गया तो मैं कसमसा गई लेकिन रॉकी के खुशि के लिए उसे गांड ही चोदने दी। और जब वह टाइट गांड में लन्ड देने लगा तो शायद उसे ज्यादा मजा आने लगा और वह जोर जोर से गांड चोदने लगा।

लेकिन वह चोदते चोदते उसका लन्ड का गांठ अचानक से मेरे गांड में घुस गया। क्या बताऊँ दोस्तों मेरे गांड में ऐसा पीड़ा हुआ जैसे लगा कोई चाकू से मेरा गांड चिर दिया हो मैं समझ गई कि आज मैं मर जाऊंगी क्योंकि जब भी उसका गांठ खुलता था तो 1 घंटे से ज्यादा देर तक उसका पानी नही निकलता था।

मुझे बहुत दर्द हो रहा था और अब रॉकी शांत हो चुका था और वह हांफने लगा थोड़ी देर बाद मुझे गांड में दर्द तो कम हुआ लेकिन अब मुझे घंटो ऐसे ही कुतिया बन के रहना था। लेकिन जब भी रॉकी छटपटाता था तो मेरे गांड में बहुत दर्द उतपन्न होता था और मैं कराह उठती थी। बीच बीच मे रॉकी मुझे चोदने की कोशिश करने लगता था लेकिन उसका लन्ड आगे पीछे हो ही नही रहा था इसलिए मुझे तेज दर्द होने लगता था। मैं समझ चुकी थी कि जब तक रॉकी का लन्ड सिकुड़ेगा और तब तक मेरी गांड का धज्जियां उड़ा चुका होगा और मेरे गांड की अंदर छिल चुका होगा। फिर मैं उसका जल्दी पानी निकालने के लिए उसके अंडकोषों को सहलाने लगा लेकिन जब भी उसके अंडकोषों को सहलाती उसे ज्यादा अच्छा लगता और वह चोदने कोशिस करने लगता जिससे मुझे गांड में तेज दर्द होने लगता।

पिछले आधे घंटे से उसका लण्ड मेरी गांड में था और मैं कुतिया बनी हुई थी। अब मैं सब दर्द बर्दास्त करके उसके अंडकोषों को जल्दी जल्दी सहलाने लगी और एक घंटा बीत गया और तब रॉकी हिलना शुरू कर दिया शायद उसे एहसास होने लगा था कि उसका लन्ड पानी छोड़ने वाला है तो वह चोदने कोशिस करने लगा और मैं दर्द बर्दास्त करने लगी और तभी मुझे अपने गांड में एहसास हुआ कि कुछ गर्म चीज बह रहा है रॉकी का लण्ड पानी छोड़ चुका था लेकिन उसका लण्ड अभी भी सिकुड़ा नही था। और फिर मैं उसके लन्ड के पीछे के भाग को पकड़ के बाहर खिंचने लगी जिससे मुझे तो दर्द हो ही रहा था शायद रॉकी को भी लन्ड में दर्द हो रहा था इसीलिए वह चिल्लाने लगा था। लेकिन मेरी थोड़ी मसक्कत के बाद घचाक के आवाज के साथ उसका लण्ड गांठ सहित बाहर आ गया। बहुत बड़ा गांठ था। रॉकी सच मे कमाल है।

मैं तो कुतिया बने बने बुरी तरह थक चुकी थी। इसीलिए सीधा हुई और हांफते हुए आंखे बंद करके निढाल हो गई। लेकिन रॉकी मेरी चूत और गांड अभी भी चाट रहा था। वह मुझे निढाल देखकर मेरे गालों और मुँह को भी चाटने लगा। तो मैं भी उसे किस की और बाहों में भर ली।

इस तरह चूत चुदवाने के चक्कर मे मैं कुत्ते से गांड मरवा बैठी।

तो दोस्तों मुझे कमेंट करके बताएं कि मेरी गांड और चूत की चुदाई आपको कैसी लगी ताकि मैं अपनी भली कहानी लेकर आ सकूँ।

इस तरह की और कहानियाँ पाने के लिए nightqueenstories.com पर जाएं।

कमेंट और लाइक करना न भूलें।

मेरी अगली कहानी का शीर्षक है “अजनबी सहेली के साथ लेस्बियन सेक्स

नमस्कार।

धन्यवाद।।

 

90% LikesVS
10% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *